Home / हिन्दी / पढ़ें GST समारोह पर राहुल गांधी की ये तिखी प्रतिक्रिया।

पढ़ें GST समारोह पर राहुल गांधी की ये तिखी प्रतिक्रिया।

कल रात GST पार्लियामेंट के सेन्टर होल में तकरीबन बारह बजे लॉंच हुआ। जिसमे कोंग्रेस पार्टी के युवराज आदरिणय राहुल गांधी मौजूद नही थे । वो अपनी नानी की खबर देखने इटली गये हुए थे। अगर वो होते तो कइ प्रश्न पूछ के भाजपा को भी उस्की नानी याद दिला देते। फर्ज करो वो होते तो पत्रकारो को क्या इंटरव्यू देते….शायद निम्न लिखे सवाल की झड़ी लगा देते!

(1)  हॉल में लगाये गये पवनचक्की जैसे पंखे उपर की दिशा में हवां फेंक्ते होगे या नीचे? मुजे पुरी GST की चर्चा के दौरान यही प्रश्न खाया जा रहा था! ऐसे पंखे लगा के मोदीजी ने मेरा ध्यान बटाने की कोशिश की। ये गहेरी साजीश थी!

(2) मोदीजी अपना पुरा प्रवचन कागज में पढ के बोल रहे थे! इस्का मतलब समजे आप लोग!? उन्हे *मेरी तरह* GST समज में नही आ रहा है।

(3) GST के कानुन लाने के लीये हुई अलग अलग 18 मीटिंग को मोदीजी ने गीता के 18 अध्याय से जोड़ के अपने सांप्रदायिक होने का परिचय दिया। इस 18 के अंक को ऊँट के अंगो के साथ न जोड के ऊँटो का घोर अपमान किया है ये बात पे हम जेसलमेर के रण में जाके अनशन करेंगे।

(4) प्रवचन के दौरान एक साथ सात माइक का उपयोग करके वो क्या साबित करना चाहते थे? में ये सोच में अपना ध्यान भटकालु के इनमे से कीतने माइक चालु थे कीतने बंध!? पर वो इस में कामयाब नही हुए, मैने मोदीजी का पुरा प्रवचन ध्यान से सुना था ये उनको बतला देना।

(5) नये चश्मे का एडजस्मेन्ट को GST के एडजस्मेन्ट के साथ कम्पेर किया! अाप को पता है अमीरो के चश्मे की फ्रेम महंगी होने के कारण कोई दिक्कत नही होती। पर गरीबो की फ्रेम सस्ती होने के कारण बारबार एडजस्ट करनी पडती है। मोदीजी ने गरीबो का मजाक उडाया…ये सरकार गरीब एवंम दलीत विरोधी है इसका ये प्रमाण है।

(6) मोदीजी ने सिर्फ गीता ओर वैद की बातें करके दुसरे धर्मो के साथ अन्याय किया। मोदीजी चाहते तो वो एक श्लोक उर्दु में बोल के मुस्लिम संप्रदाय के लोगो का दिल जीत सकते थे लेकीन उन्होने ऐसा नही किया! भाजपा कम्युनल पार्टी है एक बार फिर साबित हुआ।

(7) आइन्स्टाइन का क्वोट कह के केथलीक धर्म के लोगो को खुश करने की कोशिश की थी….अगर वो चाहते तो महान फिलोसोफर हाफिज सइद का एक क्वोट कह सकते थे! भाजपा पहेले से ही नोनसेक्युलर पार्टी है।

(8) मोदीजी ने अपना वकत्व्य पुरा करते वक्त पुरे सदन, राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी सबका आभार प्रकट किया , लेकीन स्पिकर सुमित्रा महाजन का नाम तक नही लिया। इस्का मतलब ये हुवा की मोदीजी वुमेन एम्पावरमेन्ट की सिर्फ बातें करते है।

…..चलीये पत्रकार महोदय मेरे टीवी शो का समय हो चुका बाद में मिलते है।

About Jasmin Patel

Jasmin Patel
Engineer n working in construction field

One comment

  1. ye to hoga hi opposition ka kaam hi hai halla ho karna

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *